होम अद्भुत कथायें मरने के बाद छोटे बच्चों की आत्मा के साथ क्या होता है ?

मरने के बाद छोटे बच्चों की आत्मा के साथ क्या होता है ?

by Aejaz
छोटे बच्चों की आत्मा के साथ क्या होता है

मित्रों, मृत्यु के बाद एक आत्मा के साथ क्या होता है इस विषय में तो हम आपको पहले ही बता चुके हैं किन्तु यदि वो आत्मा किसी बच्चे की हो तो……….. क्या उसके साथ होने वाली आगे की क्रिया बाकी आत्माओं के समान hotiहै या फिर जिस तरह  पुराणों में बच्चे के अंतिम संस्कार से जुडी एक अलग  विधि को बताया है उसी प्रकार मृत्यु के बाद उनकी आत्मा के साथ क्या होना है इसके लिए भी परमात्मा द्वारा एक अलग विधान को निर्धारित किया गया है। 

क्या कहते है हमारे धर्म पुराण जानने के लिए वीडियो के अंत तक बने रहिये ।

नमस्कार मित्रों, स्वागत है आपका “the divine tales ” पर एक बार फिर

मित्रों, 15 वर्ष की आयु या फिर पैदा होते ही जिन बच्चों की मृत्यु हो जाती है उनके साथ आगे होने वाली क्रिया को हम आपको पुराणों में वर्णित परमात्मा और बच्चों के बीच हुए एक संवाद के माध्यम से बताने जा रहे हैं। 

मित्रों मृत्यु के बाद 15 वर्ष की आयु तक के सभी बच्चों के लिए परमात्मा द्वारा स्वर्ग के द्वार खोले जाते  है क्यूंकि पुराणों में वर्णित है ki is umr ke बच्चे निर्दोष hote हैं और उनके द्वारा किये सभी पाप माफ़ kar diya jaata hai……………

Katha ke anusaar ek bar kuch bachchon ki aatama swarg ke dwar par pahunchi किन्तु स्वर्ग के द्वार खुलने के बाद भी un bachchon ki aatma अंदर जाने को तैयार नहीं hue .वो वहीँ खड़े रह कर अपने माता – पिता को तलाश karne lage हैं 

Yah dekh परमात्मा उनसे bole अरे बच्चों क्या देख रहे हो swarg ka द्वार खुला है aao स्वर्ग में प्रवेश करों। 

तब सभी बच्चे बड़ी मासूमियत से भगवान से पूछने लगे – हे ! परमात्मा, हमें आप स्वर्ग में भेज तो रहें हैं परन्तु हमारे माता पिता कहाँ हैं? हम उनके बिना इसके अंदर कैसे प्रवेश कर सकते हैं 

Tab परमात्मा बोले – बच्चों , अभी तुम्हारे माता – पिता मृत्युलोक में अपने कर्मों को भोग रहे हैं ………….

Parmatma ki baaten sunkar bachcon ne kaha – हे परमात्मा, तो कोई नहीं….. हम यहाँ उनके कर्मों को भोगने तक इन्तजार करैंगे। जब वो आयेंगें tabhi हम उनके साथ ही इसके अंदर प्रवेश करैंगे। 

उस पर परमात्मा उन्हें समझाte hue bole बच्चों उनका यहाँ आना निश्चित नहीं… ये तो उनके कर्मों पर निर्भर करता है यदि उनके कर्म अच्छे हुए तब तो वो यहाँ आयंगें यदि नहीं तो उनका ठिकाना कहीं और होगा। 

बच्चे अब भी परमात्मा की इन बातों को नहीं समझ पाए .

और इस बीच अपने कर्मों के आधार पर उनके माता – पिता में से कुछ का स्वर्ग तो कुछ का नरक की ओर गमन हो गया। 

लेकिन kuch बच्चे अभी भी वहीं बैठे अपने माता – पिता  का  इन्तजार कर रहे होते हैं। एक बार फिर परमात्मा उन्हें स्वर्ग में प्रवेश करने के लिए bole। किन्तु अपने माता  – पिता के नरक में गमन से अनजान वो बच्चे परमात्मा से पूछने लगे।  

He bhagawan हमारे माता – पिता कहाँ हैं तभी परमात्मा जवाब देते hue bole बच्चों उनके कर्म इतने अच्छे नहीं थे इसलिए वो नरक में जा चुके हैं , ये सुन बच्चे हठ कर बैठे –  हम अपने माता – पिता के बिना कहीं नहीं जायंगें। 

बच्चों को इस तरह हठ करते देख परमात्मा उन्हें बताने लगे – बच्चों आप बेगुनाह हो लेकिन आपके माता – पिता गुनाहगार हैं। 

ये सुन बच्चे परमात्मा से बहस करते हुए बोलने लगें – परमात्मा, अगर आप हमारे सारे गुनाहों को माफ़ कर स्वर्ग में भेज सकते हैं तो हमारे माता पिता को क्यों नहीं ?

हमे ऐसे स्वर्ग में नहीं जाना जहाँ हमारे माता पिता न हों। 

इसलिए हम उस स्वर्ग में तब तक नहीं जायंगें जब तक कि हमारे माता – पिता यहाँ नही आ जाते।  और अगर उनके कर्म इतने ही बुरे हैं जिससे आप उन्हें स्वर्ग में जाने नहीं दे सकते तो हमे भी नरक में भेज दीजिये। 

अन्ततः परमात्मा बच्चों के इस हठ के आगे हार मान gaye और unake mata pita ko bhi apne बच्चों के संग स्वर्ग में जाने की अनुमति दे di.

इस प्रकार वो बच्चे अपने माता पिता के स्वर्ग में गमन का कारण बने .

मित्रों, उम्मीद करते हैं. आपको हमारी आज की ये वीडियों पसंद आई होगी साथ ही आपको ये भी समझ आ गया होगा कि एक बच्चे की आत्मा के साथ मृत्यु के बाद क्या होता है . यदि आपमें से किसी ने हाली में अपने बच्चे को खोया है और अभी भी उनके चिंतन में खोये हुए हैं तो आपको बता दें . मृतात्मा का स्वर्ग की ओर गमन हो चूका हैं इसलिए उनके अगले जीवन मंगलमय हो इसकी प्रार्थना करें .

और उन्हें अपने आप से बाँधने की कोशिश न करें . अथार्त उनसे जुड़ें किसी भी प्रकार के खिलौने आदि अपने पास न रखें इससे उनका ये आसन रास्ता कष्टमय बन सकता है .

वो कैसे ? क्यूंकि ये आत्मा के मोक्ष के मार्ग को बाधित करने का काम करती है .

इससे जुडी विस्तृत जानकारी के लिए उपर दिए eyebutton पर क्लिक करें 

और  ऐसी ही आध्यात्मिक और धार्मिक जानकारी के लिए subscribe करेंहमारा youtube channel “the divine tales” aur Facebook par dekhne wale like करेंहमारा फेसबुक पेज।

आज के लिए बस इतना ही अब इजाजत दे आपका बहुत बहुत शुक्रिया।

0 कमेंट
0

You may also like

एक टिप्पणी छोड़ें